bichchu

बिच्छू के डंक मारने पर ये दवा लें ,कुछ ही समय पर डंक अपने आप बाहर निकल जाएगा । जरूर पढ़ें ।

मित्रो बिच्छू काटने पर बहुत दर्द होता है और जिसको बिच्छू काटता है उसके सिवा और कोई जान नही सकता कितना भयंकर कष्ट होता है। तो ऐसी परिस्थिति मे क्या करना चाहिए ? तो बिच्छू काटने पर एक दावा है होमेओपेथी की दवा है !

उसका नाम है Silicea -200 इसका लिकुइड 5 ml घर में रखे । बिच्छू काटने पर इस दावा को जीभ पर एक एक ड्रोप 10-10 मिनट अंतर पर तीन बार देना है । बिच्छू जब काटता है तो उसका जो डंक है न उसको अन्दर छोड़ देता है वो ही सबसे ज्यादा दर्द करता है । इस डंक को बाहर निकलना आसान काम नही है,

डॉक्टर के पास जायेंगे वो काट करेगा चीरा लगायेगा फिर खिंच के निकालेगा उसमे उसमे ब्लीडिंग भी होगी तकलीफ भी होगी । ये मेडिसिन इतनी बेहतरीन मेडिसिन है के आप इसके तीन डोस देंगे 10-10 मिनट पर एक एक बूंद और आप देखेंगे वो डंक अपने आप निकल कर बाहर आ जायेगा। सिर्फ तीन डोस में आधे घन्टे में आप रोगी को ठीक कर सकते है। बहुत जबरदस्त मेडिसिन है ये Silicea 200.

आपको जानकार हैरानी होगी ये मेडिसिन मिट्टी से बनती है,वो नदी कि मिट्टी होती है न जिसमे थोड़ी बालू रहती है उसी से ये मेडिसिन बनती है ।इस मेडिसिन को और भी बहुत सारी काम में आती है । अगर आप सिलाई मशीन में काम करती है तो कभी कभी सुई चुभ जाती है और अन्दर टूट जाती है उस समय भी आप ये मेडिसिन ले लीजिये ये सुई को भी बाहर निकाल देगा।

आप इस मेडिसिन को और भी कई जगह मे प्रयोग कर सकते है जैसे कांटा लग गया हो , कांच घुस गया हो, ततैया ने काट लिया हो, मधुमखी ने काट लिया हो ये सब जो काटने वाले अन्दर जो छोड़ देते है वो सब के लिए आप इसको ले सकते है । बहुत तेज दर्द निवारक है और जो कुछ अन्दर छुटा हुआ है उसको बाहर निकलने की मेडिसिन है ।

और तो और हमारी सेना के जवानो को युद्ध बम आदि के कारण बम के छर्रे शरीर मे रह जाते है ! जिसे डाक्टर मे भाई बहुत बार निकालने के लिए माना कर देते है ! राजीव भाई ने ऐसे बहुत से जवानो को इसी दवा से ठीक किया है ! इसके बहुत ही चमत्कारिक परिणाम आते है !

बहुत सस्ता मेडिसिन है 5 ml सिर्फ 10-20 रूपए की आती है इससे आप कम से कम 50 से 100 लोगों का भला कर सकते है ।

पूरी post पढ़ने के लिए बहुत आभार !

यहाँ जरूर click करें !

अधिक से अधिक share करें !

वन्देमातरम्

comments

Check Also

rd-death

राजीव भाई दीक्षित की मृत्यु के पीछे का अनकहा सत्य जरूर पढ़ें ।

2009 मे राजीव भाई बाबा रामदेव के संपर्क मे आए और बाबा रामदेव को देश …