Home / Rajiv Dixit All Post / जानिये भारत में बिक रहे lifebouy साबुन का सत्य ! Rajiv Dixit

जानिये भारत में बिक रहे lifebouy साबुन का सत्य ! Rajiv Dixit

lifebouy है जहां तंदरुस्ती है वहाँ !
________________________
दोस्तो ये कैसा मूर्खता का विज्ञापन हर समय विदेशी कंपनी द्वारा TV पर दिखाया जाता है !( lifebouy है जहां तंदरुस्ती है वहाँ !) इसका मतलब तंदरुस्ती lifebouy से आ रही है ?

तो रोटी -पानी क्यूँ कर रहे हो भाई ???
खाना क्यूँ खा रहे हो ??
lifebouy ही लगाओ तंदरुस्ती आती रहेगी !!

आप बताओ तंदरुस्ती का साबुन lifebouy हो सकता है ??

तंदरुस्ती का आधार दूध हो सकता है, दही हो सकता है , सब्जियाँ हो सकती हैं चावल हो सकता है दालें हो सकती हैं ये lifebouy कब से हुआ ???

अब अकल की बात तो यही हैं न साबुन तंदरुस्ती का आधार नहीं होता लेकिन मूर्ख लोग फिर भी इसे खरीदते हैं !!

आपको मालूम है lifebouy दुनिया का सबसे घटिया साबुन है !

_____________________________
दुनिया में 3 तरह के साबुन होते हैं ।
1) bath Soap
2) toilet Soap
3) carbolic soap

bath Soap नहाने के लिये ।

toilet Soap हाथ धोने के लिये ।

और carbolic Soap जानवारो को नहलाने के लिये ।

lifebouy carbolic Soap हैं |

और ये बात मैं नहीं कहता ।
कंपनी खुद इस बात को मानती है । ये carbolic Soap है ।

यूरोप के देशो में लोग lifebouy से कुते,बल्लियां,गधो आदि को नहलाते हैं । लेकिन भारत में 7 करोड लोग रोज़ lifebouy से नहाते है..| विदेशी कंपनिया देश में जो भी जहर बेचें लेकिन देश की भ्रष्ट सरकार और बिका हुआ मीडीया अपने मुँह में फ़ैवीकोल डाल कर बैठे हैं। इनको सिर्फ़ दूध,घी,मावा आदि में ही जहर नजर आता हैं । वो भी दिवाली के दिनो में तकि विदेशी कंपनियो का माल बिके । ।

इसके घटिया होने का प्रमाण देखना हो तो आप lifebouy से नहाइये ! नहाने के बाद अपनी बाजू पर नाखून से रगड़े ! आप देखेंगे ! सफ़ेद रंग की एक लाइन खींची जाएगी ! ऐसा इस लिए हुआ इस llifebouy के कैमिकल कचरे ने आपकी त्वचा का natural oil पी लिया । और आपकी त्वचा रूखी और बेजान हो गई ! और रूखी और बेजान त्वचा पर अगर आप बार-बार साबुन रगड़े गए तो एक न एक दिन आपको Egsema,होने ही वाला है Psoriasis होने ही वाला है ! ये विदेशी कंपनी का जहर lifebouy हैं |

और एक बात ध्यान दे विज्ञापन मे बोलते है lifebouy मैल मे छिपे किटाणुओ को धो डालता है ! मैल को नहीं धोता मैल मे छिपे कीटाणुओ को धो डालता है और मारता नहीं है धोता है इसका मतलब धो -पोंचछ के उनको और तंदरुस्त बना देता है !! 😛 😛 😛

कृपया जरुर जरुर जरुर इस link पर click कर देखे और इस video सब जगह फैलां दे ।

अमर शहीद राजीव दीक्षित जी की जय !!

वन्देमातरम !!

comments

Check Also

जानिये: भारत में सबसे पहले कैसे हुई थी कागज की खोज ! Rajiv Dixit

कागज बनाना पूरी दुनिया को भारत ने सिखाया | कागज बनाना सबसे पहले भारत मे …