Home / Tag Archives: Secularism exposed by rajiv dixit

Tag Archives: Secularism exposed by rajiv dixit

‘धर्मनिरपेक्षता’ पर राजीव भाई का ये लेख जरूर पढ़ें ,शेयर करें !

मित्रो महाऋषि चाणक्य का एक सूत्र है धर्मस्य मूलम अर्थम् अर्थस्य मूलम कामम !इसका सीधा सा अर्थ है धर्म के मूल मे अर्थ (धन) है ! अर्थात अर्थ कमजोर हुआ तो धर्म अपने आप कमजोर होता है ! अर्थात अर्थव्यवस्था ठीक नहीं है तो धर्म पालन नहीं होता भूखे लोग …

और अधिक जाने,See More ।