शर्बत ब्राह्मी बनायें

आप इस विधि को जानकर शर्बत ब्राह्मी बनायें

दिल दिमाग को शक्ति और शान्ति प्रदान करने वाला ब्राह्मी शर्बत बनाने का एक अच्छा फार्मूला यह है :-

  1. ब्राह्मी बूटी –    200 ग्राम
  2. खरबूजे के बीज –    25 ग्राम
  3. बादाम गिरी –    25 ग्राम
  4. मुनक्का –    25 ग्राम
  5. चीनी (पीसी हुई) –    750 ग्राम
  6. पानी –    1.5 लीटर
  7. साइट्रिक ऐसिड   –    2 लीटर
  8. पोटासियम मेटा – वाय – सल्फेट –    2 ग्राम

बनाने की विधि :-

     बादाम की गिरी थोड़े से पानी में रातभर भीगी रहने दें, ताकि इनका छिलका फूल जाय I दूसरे दिन इन्हें पानी से निकालकर छिल लें I इसी प्रकार मुनक्का को रातभर भीगा रहने दें ताकि ये भी फूलकर मुलायम हो जाये और इन  पर लगी धूल मिट्टी के कण धुल जाये I अब किसी साफ सिलबट्टे की सहायता से साफ मुनक्का तथा छिली हुई गिरी और खरबूजे के छिले हुए बीज को चटनी की तरह पीस लें I

अब एक अन्य साफ बर्तन में ब्राह्मी बूटी को रात भर पानी में भीगी रहने दें I दूसरे दिन इस बर्तन को धीमी आंच पर इतनी देर तक पकायें कि इसमें मिलाया गया पानी वाष्प बनकर उड़ने लगे और ब्राह्मी बूटी का अधिकतम सत्व इस पानी में जाय I इसके पश्चात् इस घोल को छान लें और छने हुए घोल में चीनी किसी कड़ाही इत्यादि में डालकर आंच पर पकाएँ I साइट्रिक भी इसमें पीसकर घोल लें I पकाते समय इस चासनी में मैल के जो झाग से आएँ उन्हें किसी पौनी इत्यादि से उतारने जाएं I पकते – पकते जब इस शर्बत का तापक्रम 212 डिग्री फारेनहाइट तक पहुँच जाय, तब इसमें संरक्षण पदार्थ के रूप में ‘पोटेशियम मेटा – बाइसल्फेट’ घोलकर, आवश्यकतानुसार साइज की बोतलों में पैक कर लें I

अगर आवश्यकता समझें तो इस शर्बत में लगभग 1 ग्राम हरा ‘फूड कलर’ मिलाकर, इसे आकर्षक हरे रंग का बना सकते हैं और यदि सुगन्ध और स्वाद बढ़ाना चाहें तो लगभग 5 सी० सी० मात्रा में ‘ब्राह्मी – एसेन्स’ भी मिला सकते हैं I वैसे रंग तथा एसेन्स मिलाना जरुरी नहीं है I

Check Also

जैली बनाने की प्रक्रिया

अब आप जैली बनाने की प्रक्रिया के बारे में जाने जैली बनाने के लिए निम्नलिखित …