गुलकंद बनाने की विधि

गुलकंद का प्रयोग और गुलकंद बनाने की विधि के बारे में जाने

उपयोग :-

     पेट एवं शारीर की जलन में, मस्तिक उतेजना एवं कब्ज दूर करना, मासिक धर्म की अधिक रक्त जाने पर एवं हाथ पैर, तलवों व आँख की जलन को कम करता है I

सामग्री :-

  1. गुलाब के फूल –     250 ग्राम
  2. शक्कर –     1/2 किलो (गुलाब के फूल से शक्कर दूनी मात्रा में ली जाती है I )

बनाने की विधि :-

  • गुलाब के फूलों से पंखुड़ियाँ अलग कर लेवें एवं साफ कर लें I
  • गुलाब की पंखुड़ियों में शक्कर लगा – लगाकर बर्तन में रखते जाएँ I जब बर्तन भर जाय तब ढक्कन लगाकर ऊपर से कपड़ा बाँध कर धूप में रख दें I

या

      बर्तन में पहले एक तरह (लेयर) शक्कर की छिला दें, फिर उसके ऊपर एक तह गुलाब की पंखुड़ियों की, फिर उसके ऊपर शक्कर की एक तह बिछा दें I इस प्रकार करते – करते बर्तन के मुँह तक पहुँच जाएँ I सबसे ऊपर शक्कर की तह जरुरी है I फिर बर्तन का मुँह बंद कर कपड़े से मुँह बाँधकर धूप में रख दें I 2 माह में गुलकंद तैयार है I

  • जल्दी तैयार करना है, तब गीली मिट्टी लेकर बर्तन को मिट्टी से ढक देते हैं I सुखाने पर गोबर से लीप देते हैं एवं धूप में ही रखा रहने देते हैं I एक माह में गुलकंद तैयार हो जाता है I

विशेष बनाने हेतु :-

एक किलो गुलकंद में 15 ग्राम प्रवाह पिष्टी मिला देने पर विशेष लाभकारी हो जाता है I

comments

Check Also

जैली बनाने की प्रक्रिया

अब आप जैली बनाने की प्रक्रिया के बारे में जाने जैली बनाने के लिए निम्नलिखित …

सोशल मीडिया पर राजीव भाई से जुड़ें ।

Facebook465k
Facebook
YouTube227k
Google+0