अनन्नास का मुरब्बा बनायें

अनन्नास(पाइनऍप्पल) बहुत ही रसदार फल होता हैI अनन्नास(पाइनऍप्पल) को स्वाद के दृष्टीकोण से बहुत ही उपयोगी माना जाता हैI अनन्नास चुकी खास मौसम में ही होता है इसलिए हम सभी अनन्नास का संबर्धन विभिन्न तरीकों से करते हैंI अनन्नास का मुरब्बा बनाना बहुत ही आसान होता है, तथा फल की अधिकता के समय मुरब्बा बनाने पर बहुत ही कम खर्च में भी तैयार हो जाता हैI आप निम्नलिखित परामर्श को ध्यानपूर्वक देख कर अच्छा मुरब्बा तैयार कर सकते है जिसको आप अपने घर में उपयोग कर सकते हैं तथा आप इसे बाजार में विक्रय कर पैसे प्राप्त कर सकते हैंI

अनन्नास का मुररब्बा बनाने की विधि:-

बनाने की सामग्री :

  • अनन्नास – लगभग 1 किलोग्राम( 1 फल )
  • चीनी – 1.5 किलोग्राम ( आवयश्कता के अनुसार )
  • नमक – 2 चम्मच

अनन्नास की तैयारी एवं फाँके बनाना:

अनन्नास के ठीक अवस्था में पके फल लेकर इसे अच्छी तरह छीलकर फाँके बना लीजिए | अनन्नास को काटते समय थोड़ी सावधानी बरतनी चाहिए I इसके ऊपर कांटेदार छिलके होते है जो कभी-कभी बैगर दस्ताना के हांथों खुजली का कारण बन सकते हैं I इसीलिए सावधानीपूर्वक छिलके उतारें तथा फाँके बनायें I

अनन्नास को गोदना :

अनन्नास का मुरब्बा बनाने के लिए गोदना एक महत्वपूर्ण क्रिया है I अनन्नास को काँटे या बाँस की तीली की सहायता से अच्छी तरह गोदना चाहिए I यदि अनन्नास ठीक से नहीं गोदा जायेगा तो मुरब्बा उतम किस्म का नहीं हो पायेगा I अच्छी तरह गोदे हुए अनन्नास में चीनी का गाढ़ा घोल प्रवेश कर जाता है जिससे फरमेंटेशन नहीं होता I

अनन्नास को पकाना : 

अनन्नास  को 2 प्रतिशत नमक के घोल में डालिए तथा  फिर टुकड़ों को 3 – 5 मिनट तक उबलते पानी में उबालकर पानी से छान लीजिये |

अनन्नास को चीनी की चासनी में रखना :

सर्व प्रथम अनन्नास   पकाने के तुरंत बाद एक अल्युमिनियम या स्टील के भगोने में चीनी की एक तह बिछानी चाहिए I उसके बाद उसके ऊपर फलों की एक तह लगानी चाहिए I फलों के ऊपर चीनी की एक तह लगानी चाहिए I इस तरह फलों को चीनी के तहों के बीच 24 घंटे के लिए रख देना चाहिए I

दुसरे दिन अधिकांश चीनी पिघल जाएगी I अब अनन्नास को बाहर निकालकर चासनी को पका लेना चाहिए I एक उबाल आ जाने पर प्रति किलोग्राम चीनी में 2 – 3 ग्राम साइट्रिक एसिड मिला देना चाहिए I चासनी को छानकर फलों को फिर गरम चासनी में डालकर 24 घंटे के लिए रख देना चाहिएI

तीसरे दिन अनन्नास को चासनी से निकालकर चासनी को इतना पकाइए कि चीनी कि मात्रा 70 – 72 प्रतिशत हो जाय I ऐसी अवस्था में फलों को फिर गरम चासनी में डाल देना चाहिए I

आठ दस दिन बाद अनन्नास को चासनी से निकालकर चासनी को पाँच मिनट फिर पका लेना चाहिए क्योंकि इस अवधि में परासरण की क्रिया से चासनी पतली हो जाती है तथा चीनी की मात्रा कम होने की संभावना रहती है I

इस विधि से बनाया हुआ मुरब्बा अधिक चमकदार तथा आकर्षक लगता है इसलिए मुरब्बा बनाने की यह सर्योतम विधि है I

जार में भरना : – जब मुरब्बा ठण्डा हो जाय तो बड़े मुँह के बर्तन में भरना चाहिए I अनन्नास चासनी में दुबे रहना चाहिए I जार में ढक्कन लगाकर मोम से सील बंद कर देना चाहिए I

कृपया ध्यान दें:-

सफलता आप के प्रयास में छुपी होती है I आप को अनन्नास का मुरब्बा बनाने में हमारे सहयोग की सार्थकता का दायित्व आप पर है I अनन्नास  का मुरब्बा बनाने की विभिन्न प्रक्रियाओं में, ये तरीका डुबते को तिनके के सहारे जैसा है I यदि आपके पास और भी कोई बनाने के तरीकों की जानकारी उपलब्ध है, तो कृपया अपनी जानकारी हमें प्रदान करें जिससे हम प्रकृति में जीवन एवं स्वावलंबन के लिए लोंगों की मदद कर सकें I

comments

Check Also

जैली बनाने की प्रक्रिया

अब आप जैली बनाने की प्रक्रिया के बारे में जाने जैली बनाने के लिए निम्नलिखित …

सोशल मीडिया पर राजीव भाई से जुड़ें ।

Facebook490k
Facebook
YouTube278k
Google+0